भारत ने खोली चीन के झूठ की पोल, कहा- पीएलए ने उकसाने के लिए हवा में चलाई थीं गोलियां

नई दिल्ली। भारत चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर जारी गतिरोध लगातार बढ़ती जा रही है। इस बीच भारत चीन के हर झूट को बेनाकब कर रहा है। इतना ही चीन के हर चाल का जवाब भी भारत उसी के भाषा में दे रहा है। इसी कड़ी में भारत ने बार फिर के उस दावे की पोल खोल रख दी जिसमें वह भारत पर आरोप लगा रहा था। दरसअल पैंगोंग झील के दक्षिणी तट पर हुई झड़प पर भारत ने बयान जारी करते हुए चीन के दावों को पूरी तरह से झुठलाते हुए कहा कि पीएलए के जवानों ने उकसावे पर भारत ने कार्रवाई की।

इसके साथ ही भारत सरकार ने साफ शब्दों में कहा कि उसने लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पार नहीं की और न ही गोलियां चलाईं। इसके साथ ही भारत सरकार ने चीन की पीएलए पर आरोप लगाते हुए कहा बातचीत जारी रहने के बावजूद समझौतों का उल्‍लंघन कर रही पीएलए है। भारत सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि चीन के वेस्‍टर्न थियेटर कमान का बयान गुमराह करने की एक कोशिश है।

 आपको बता दें कि बीते 7 सितंबर की घटना पर भारत सरकार ने कहा कि पीएलए सैनिक एलएसी के पास स्थित हमारी एक पोस्‍ट के पास आना चाह रहे थे। जब भारतीय सैनिकों ने उन्‍हें जाने को कहा तो उन्‍होंने डराने के लिए हवा में कुछ गोलियां चलाईं। उकसावे के बावजूद, भारतीय जवानों ने संयम नहीं खोया और जिम्‍मेदारी से मसला सुलझाया।

Show More

Related Articles