स्त्री वेलफेयर फाउंडेशन संस्था ने कृष्ण जन्माष्टमी प्रतियोगिता का किया आयोजन

लखनऊ ! नन्हे नन्हे बाल कलाकारों ने हिस्सा लेते हुए श्री कृष्ण की बाल स्वरूप के चित्र का सजीव वर्णन किया एवं सुंदर सुंदर झांकियां प्रस्तुत की। हर वर्ष की भांति इस वर्ष कोरोना संक्रमण से संस्था कृष्ण जन्माष्टमी का आयोजन प्रत्यक्ष रूप से नहीं कर पा रही है फिर भी संस्था में भाग लेने वाले बच्चों में ग्रेटर नोएडा झारखंड लखीमपुर झांसी सहित उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश से बच्चों ने डिजिटल मंच द्वारा भाग लिया एवं हर्षोल्लास के साथ श्री कृष्ण जन्माष्टमी में अपनी प्रतिभा प्रदर्शित की जिसमें बच्चों ने राधा एवं गोपियों की वेशभूषा पहन के उनके द्वारा कृष्ण लीलाएं की साथी कई बच्चों की माताओं ने यशोदा का रूप धारण करते हुए नटखट बाल गोपाल के साथ नृत्य किया जिनकी प्रतिमा देखते ही बनी एवं जिस प्रकार निधिवन में गोपियां नृत्य करती हैं एवं उनकी लीलाएं मशहूर हैं ठीक उसी प्रकार संस्था के बच्चे भी कृष्ण की भक्ति में रम कर इस प्रकार नृत्य करते हुए अपनी झांकियां प्रस्तुत करते हैं
मानो साक्षात उनके अंदर प्रभु का वास हो गया है और कहते भी हैं कि बच्चे मन के सच्चे बच्चे भगवान का ही रूप होते हैं जिनके अंदर हम साक्षात ईश्वर का दर्शन कर सकते हैं बस हमारे मन के भाव उत्तम होने चाहिए क्योंकि ईश्वर भाव के भूखे हैं।
संस्था में भाग लेने वाले बच्चों मे आध्या राय, अन्विता बहुखंडी, ऐश्वर्या बोरखंडी, अवीका तिवारी, अनुष्का पाल, ध्रुविका धवन, इंदिरा पांडे, पूर्वी सिंह, अनाहिता उपाध्याय, आर्य गुप्ता, वैष्णवी सक्सेना, धन वर्षा सिंह, वर्तिका राजवंशी, अध्यांश राय, आध्या, नित्या राजवंशी, आराध्या यादव, आकर्षिका श्रीवास्तव, विहान विजय श्रीवास्तव, शनवी श्रीवास्तव, तनिष्का वर्मा, परी शुक्ला, रिसीमा सिन्हा सहित अन्य बाल कलाकारों ने सुंदर से सुंदर प्रस्तुति दी।
संस्था की तरफ से महामारी कोरोना की समाप्ति के पश्चात भगवान श्री कृष्ण के चित्र वह प्रमाण पत्र देकर सभी बच्चों को सम्मानित किया जाएगा। संस्था के इस कार्य में मुख्य रूप से सहायक शशि पांडे, मनोरमा,सुनीता पांडे, अर्चना शुक्ला को संस्था की अध्यक्ष नीलू त्रिवेदी ने जन्माष्टमी की शुभकामनाएं देते हुए डिजिटल मंच द्वारा कार्यक्रम के सफलतापूर्वक संपन्न होने की बधाई दी

Show More

Related Articles